इनौस ने किया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का सामाजिक अंकेक्षण
जमुआ झारखंड

इनौस ने किया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का सामाजिक अंकेक्षण

मिली कई प्रकार कि त्रुटियां

जमुआ(गिरिडीह)। जमुआ प्रखंड मुख्यालय में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का सामाजिक अंकेक्षण करने गई इंकलाबी नोजवान सभा की एक टीम को केंद्र में कई अनियमिताएं मिली। टीम के अगुवा इनोस के जिला उपाध्यक्ष असगर अली ने बताया कि किसी भी घटना अथवा दुर्घटना मे जख्मी हुए लोगों का यहां समुचित इलाज नहीं हो पता है। जख्मी व्यक्ति को रेफर करना यहां की नियति बन गई है। जिससे गिरिडीह अथवा धनबाद जाने के क्रम में जख्मी व्यक्ति दम तोड़ देता है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

ओपीडी के बार मरीजों का इलाज भगवान भरोसे

बताया कि केंद्र में ओपीडी सेवा सुबह नो बजे से शाम तीन बजे तक निर्धारित है, इसके पूर्व और बाद में यहां आने वाले रोगियों का इलाज भगवान भरोसे है। केंद्र में महिला चिकित्सक की नियुक्ति नहीं होने के कारण महिला रोगियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। संस्थागत प्रसव यहां तैनात एक दो नर्सों के रहमोकरम पर निर्भर है। अली ने बताया कि केंद्र में बड़ी संख्या मे रोगी आते हैं, जबकि केंद्र में रोगियों के अनुपात में संसाधनों की भारी कमी है।

सरकार के सामने रखेगा ऑडिट रिपोर्ट

अली के मुताबिक इनोस पुरे राज्य के अस्पतालों का सोशल ऑडिट कर रहा है। ऑडिट की रिपोर्ट सरकार के समक्ष रखा जाएगा और सुधार के लिये आंदोलन किया जाएगा। टीम अली के साथ ललन यादव, एनुल अंसारी और विकसित पासवान शामिल थे। टीम ने केंद्र में तैनात चिकित्सक डॉ राजेश कुमार दुबे से बातचीत किया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….