गिरिडीह : आइना ने किया नुक्कड़ नाटक का आयोजन
गिरिडीह झारखंड

गिरिडीह : आइना ने किया नुक्कड़ नाटक का आयोजन

बिरसा मुंडा की प्रतिमा तोड़े जाने की घटना पर किया कटाक्ष

गिरिडीह। गिरिडीह की सांस्कृतिक संस्था आइना द्वारा रविवार को शहर के अम्बेडकर चौक पर मूर्ति क्यों तोड़ी नामक नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। नाटक का स्वरुप बीते दिनों रांची कोकर में धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की मूर्ति को तोड़ने पर आधारित था। नाटक के माध्यम से बिरसा मुंडा के स्टेच्यू के रूप में विकास, सबसे पहले टूटी हुई मूर्ति को देखने वाला बाल कलाकार सतीश तथा शोर सुनकर आने वाली प्रगति व वर्षों ने अपने संवादों से लोगों की भावनाओं को झकझोर दिया।

प्रगतिशील युवाओं की भूमिका में आदित्य व पुरुषोत्तम ने उपस्थित लोगों को बताया कि ये वो लोग हैं जो जनता की संवेदनाओं को भड़काकर मजा लेना चाहते हैं। ग्रामीण की भूमिका में मौजूद लोग आक्रोश में आकर जैसे ही कुछ करने की सोचते हैं,  तभी सूत्रधार महेश अमन ने आक्रोशित भीड़ को समझाते हुए कहा कि मूर्ति तोड़ने वाले तो यही चाहते हैं कि हम आपस मे लड़ें और वे लड़ाई से निकली आग में अपनी रोटियां सेंककर मजे ले। हमे शांति और विवेक से काम लेना है तथा वैसे असामाजिक लोगों की शिनाख्त करके कानून को सौंपना है। किसी भी हालत में शांति भंग नहीं करना है तथा झारखण्ड को दंगे के हवाले नहीं होने देना है।

सीधी नजर अब देखें सिटी केबल के चैनल नम्बर 277 पर

लोगों ने कि नाटक की  सराहना

प्रदर्शित नुक्कड़ नाटक को उपस्थित दर्शकों का प्यार तालियों से मिला। मौके पर मौजूद लोगों ने कहा आइना का प्रयास हमेसा प्रशंसनीय रहा है। सभी कलाकार धन्यवाद के पात्र हैं। नाटक का लेखन निर्देशन रंगकर्मी महेश अमन ने किया था।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….