विवाहिता को अगवा कर अहिल्यापुर के दो युवकों ने दो सप्ताह तक किया गैंगरैप

विवाहिता को अगवा कर अहिल्यापुर के दो युवकों ने दो सप्ताह तक किया गैंगरैप

गैंगरेप का वीडियो बनाकर वायरल करने की दी धमकी

पीड़िता के आवेदन के आधार पर जांच में जुटी पुलिस

गिरिडीह। 25 वर्षीय विवाहिता को अगवा कर उसके साथ दो सप्ताह से अधिक समय तक गैंगरैप कर वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। शनिवार को मामले को लेकर महिला थाना में पीड़िता द्वारा आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। जिसके बाद मामले को लेकर पुलिस जांच में जुट गई है। शनिवार को पीड़िता अपने दादा और चाचा के साथ थाना पहुंची। जानकारी के अनुसार पीड़िता के साथ जिन दो आरोपियों ने गैंगरैप की घटना को अंजाम दिया। उनमें अहिल्यापुर थाना के मोहलीयाडीह गांव निवासी शकूर मियां का बेटा असफाक मियां और मो मुसरर्फ है।

 इसे भी पढ़ें-पीएम नरेन्द्र मोदी की जनसभा 29 अप्रैल को जमुआ में

एक दूसरे को मानते थे भाई बहन

जानकारी के अनुसार पीड़िता को दोनों आरोपी एक ही थाना क्षेत्र होने के कारण भाई-बहन के रुप में जानते थे। इधर शनिवार को थाना पहुंची पीड़िता ने अपने साथ हुए गैंगरैप की घटना की जानकारी लिखित रुप से थाना को दी है। हालांकि पीड़िता के अगवा होने का रिपोर्ट पहले ही पीड़िता के दादा ने थाना में दर्ज कराया था। लेकिन 20 दिनों तक हैवानों के कब्जे में रही पीड़िता शुक्रवार को अपने परिजनों से मिली। जानकारी के अनुसार पीड़िता गिरिडीह के अहिल्यापुर थाना क्षेत्र की रहने वाली है। वहीं उसके साथ गैंगरैप कर वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देने वाले दोनों आरोपी असफाक और मुसरर्फ पीड़िता को बहन कहकर संबोधित करता था।

ससुराल से लौट रही थी घर

बीतें 23 मार्च को पीड़िता अपने दादा के साथ ससुराल से सवारी गाड़ी से गिरिडीह के अहिल्यापुर के गांव स्थित मायके लौट रही थी। इसी बीच जब पीड़िता शहर के बस पड़ाव में उतरी तो उसके दादा ने अपने पोती से कहा कि वह बगल से नास्ता कर और सत्तू पीकर आ रहे है। इसी क्रम में अपने रिश्तेदारों को बोलेरो गाड़ी से बस पड़ाव पहुंचा कर लौट रहे पीड़िता पर दोनों आरोपियों की नजर पड़ी। पहचान होने के कारण दोनों ने पीड़िता से कहा कि वे लोग भी घर चल रहे है।

पहचान होने के कारण वाहन में बिठाकर ले गये आरोपी

पहचान होने के कारण ही पीड़िता उनके वाहन में बैठ गई और असफाक व मुसरर्फ से कहा कि पहले दादा को ले लेते है। इस पर दोनों ने कहा कि रास्ते से उसके दादा को भी ले लेगें। लेकिन बस पड़ाव से निकलने के बाद दोनों आरोपियों ने अपने बोलेरो की स्पीड बढ़ा दी। किसी अनहोनी की आशंका का भांपते हुए पीड़िता चिल्लाने लगी, लेकिन गाड़ी का शीशा बंद था। लिहाजा, उसकी आवाज बाहर चल रहे लोग नहीं सुन पांए। इस दौरान एक आरोपी ने उसके साथ मारपीट कर उसे बेहोश कर दिया।

पीड़िता को कोल्हर जंगल में छोड़कर भागे आरोपी

करीब दो घंटे बाद पीड़िता को जब होश आया, तो वह खुद को एक कमरे में पाई। जहां दोनों हैवानों ने बारी-बारी से उसके साथ करीब दो सप्ताह तक गैंगरैप कर वीडियो बनाते रहे। इसके बाद बीतें शुक्रवार को दोनों आरोपियों ने पीड़िता को धनबाद के टुंडी थाना क्षेत्र के कोल्हर जंगल में छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता किसी स्थानीय व्यक्ति को फोन पर संपर्क कर अपने चाचा व दादा को कोल्हर जंगल बुलाई, इसके बाद चाचा व दादा पीड़िता को लेकर घर लौटे। वहीं शनिवार को दोनों थाना पहुंच कर घटना की जानकारी पुलिस को देते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….