पंचतत्व में विलीन हुईं अधिवक्ता कंचनमाला, लोगों ने नम आंखों से दी विदाई

पंचतत्व में विलीन हुईं अधिवक्ता कंचनमाला, लोगों ने नम आंखों से दी विदाई
  • 12
    Shares

गिरिडीह। गिरिडीह की मशहूर महिला अधिवक्ता और अधिवक्ता संघ की पूर्व सचिव कंचनमाला जी पंचतत्व में विलीन हो गईं। पचम्बा श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। कंचनमाला के पुत्र अंकुर कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी। इस दौरान उनके परिजनों के अलावा कई अधिवक्ता और अन्य लोग शामिल थे। बताते चलें कि शनिवार को कोलकाता में इलाज के दौरान कंचनमाला जी का निधन हो गया था।

अधिवक्ता संघ भवन में दी गई श्रद्धांजलि

इससे पहले शनिवार देर रात कोलकाता से कंचनमाला जी का पार्थिव शरीर गिरिडीह के शास्त्री नगर स्थित उनके आवास पर लाया गया। रविवार की सुबह से ही उनके अंतिम दर्शन के लिए परिजनों और मुहल्ले के लोगों का जमघट लगना शुरू हो गया। फूल से सजे शव वाहन से पार्थिव शरीर को अधिवक्ता संघ भवन परिसर लाया गया, जहां अधिवक्ताओं के अलावा कई गणमान्य लोगों ने उनका अंतिम दर्शन किया। झारखंड सरकार में मंत्री और गिरिडीह लोस के एनडीए उम्मीदवार चन्द्र प्रकाश चौधरी भी वकालत खाना पहुंचे और दिवंगत अधिवक्ता को श्रद्धांजलि दी। इनके अलावा अधिवक्ता संघ के महासचिव चुन्नुकांत, पूर्व विधायक जोतिन्द्र प्रसाद, अधिवक्ता प्रकाश सहाय, कला सहाय, डॉ पी सहाय, डॉ अनुज सिन्हा, प्रमिला मेहरा, विशाल आनंद, शिवेंद्र सिन्हा समेत कई अधिवक्ताओं और अन्य लोगों ने पुष्प अर्पित कर पार्थिव शरीर को नमन किया।

पंचतत्व में विलीन हुईं अधिवक्ता कंचनमाला, लोगों ने नम आंखों से दी विदाई

ज़िला अधिवक्ता संघ ने जताया शोक

अधिवक्ता श्रीमती कंचन माला के निधन पर जिला अधिवक्ता संघ ने गहरा शोक व्यक्त किया है। संघ के महासचिव चुन्नुकांत ने शोक प्रकट करते हुए कहा कि कंचनमाला जी ने समाज में एक जुझारू और मजबूत महिला अधिवक्ता की पहचान बनाई थी। बतौर संघ महासचिव उनका योगदान हमेशा हम लोगों का मार्गदर्शन करता रहेगा।

अधिवक्ता सूरज नयन ने कहा कि स्व कंचन माला जी का अचानक यूं चले जाना गिरिडीह बार के लिये किसी सदमे से कम नहीं है। बार को अपूर्णीय क्षति हुई है। आने वाली पीढ़ी की महिला अधिवक्ताओं के लिये वह हमेशा ही प्रेरणादायी रहेगी।

अधिवक्ता जयप्रकाश राय,  सुभोनिल सामंता, नटवर सराक, आलोक रंजन, पंकज सिन्हा, अनूप सिन्हा, मितेश,  संजीवन कुमार, जयंत सिन्हा, अमित सिन्हा, रंजीत कुमार, डॉ रामरतन केडिया, डॉ प्रदीप सहाय सहित अन्य कई लोगों  ने भी वरीय अधिवक्ता के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….