जातीय समीकरण के साथ गठबंधन धर्म का पालन करेगी आजसू- देवशरण भगत
गिरिडीह झारखंड राजनीति

जातीय समीकरण के साथ गठबंधन धर्म का पालन करेगी आजसू- देवशरण भगत

  • 11
    Shares

कहा किसी बाहरी व्यक्ति को नहीं दिया जायेगा टिकट

गिरिडीह। ढाई दशक के बाद गिरिडीह लोस सीट के राजनीतिक समीकरण को बदलने को लेकर एक ओर जहां भाजपा ने हिम्मत दिखाई है। वहीं आजसू के लिए सीट छोड़ने के कारण भाजपा की उदारता का बखान पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता भी खूब कर रहे हैं, साथ ही कार्यकर्ता एनडीए के साझा प्रत्याशी को समर्थन और सहयोग देने का भी दावा कर रहे हैं। हालांकि भाजपा द्वारा ढ़ाई दशक के बाद गिरिडीह सीट को अपने सहयोगी पार्टी को देकर जो हिम्मत दिखाई है वह क्या रंग दिखायेगा। वह तो आने वाला वक्त ही बतायेगा।

प्रत्याशी के रूप में कई नाम आ रहे है सामने

इधर आजसू के टिकट पर चुनाव लड़ने को लेकर चर्चाओं का बाजार भी गर्म है। आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने हाल ही में रांची में आयोजित प्रेसवार्ता में साफ कर दिया था कि आगामी 23 मार्च तक गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी की घोषणा कर दी जायेगी।  बावजूद इसके प्रत्याशी के रूप में पार्टी सुप्रीमो सुदेश महतो से लेकर पार्टी के महासचिव लंबोदर महतो, सूबे के मंत्री चन्द्रप्रकाश चौधरी, राजकिशोर महतो के नाम सामने आ रहे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया के माध्यम से धनवार के एक कारोबारी को भी प्रत्याशी बनाये जाने की बात सामने आ रही है। हालांकि सूत्रों की माने तो सोशल मीडिया में आ रहा नया नाम सिर्फ सोशल मीडिया तक ही सीमित है।

जातीय समीकरण के साथ गठबंधन धर्म का पालन करेगी आजसू

आजसू के प्रदेश प्रवक्ता देवशरण भगत ने शनिवार को सीधी नजर न्यूज से बातचीत करते हुए बताया कि गिरिडीह लोस सीट से किसी सूरत में बाहरी व्यक्ति को उम्मीदवार नहीं बनाया जायेगा। क्योंकि गिरिडीह सीट को आजसू ने भाजपा से इसी शर्त पर हासिल किया है कि जातीय समीकरण के साथ एनडीए गठबंधन धर्म का पालन किया जाएगा। इसमें कोई समझौता नहीं हो सकता। हालांकि आजसू के गिरिडीह अध्यक्ष गुड्डु यादव ने भी कहा कि गठबंधन धर्म का पालन आजसू ने हमेशा किया है। जिस नए नाम की चर्चा सोशल मीडिया में हो रही है। उसमें कोई दम नहीं है।

महतो फ्लेवर ही रहेगा गिरिडीह लोस सीट

बहरहाल, प्रर्देश प्रवक्ता के स्पष्ट कथानुसार यह तय हो गया है, कि गिरिडीह लोस सीट महतो फ्लेवर ही रहेगा। एनडीए के साझा प्रत्याशी में आजसू से पार्टी सुप्रीमो से लेकर आजसू के कई नेताओं के नाम शामिल है। जबकि महागठबंधन की और से झामुमो के प्रत्याशी जगरन्नाथ महतो का नाम पहले भी कई बार सांकेतिक रुप से झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन भी घोषित कर चुके हैं।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….