लालू की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, सीबीआई से मांगा जवाब

लालू की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, सीबीआई से मांगा जवाब
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 11
  •  
  •  
    11
    Shares

तबियत खराब होने के कारण 11 मई से 27 अगस्त तक जमानत पर थे लालू यादव

रांची। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे रिम्स में इलाजरत लालू यादव की जमानत याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस क्रम में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने लालू यादव के वकील सिब्बल द्वारा पद्वा रखे जाने के बाद  सीबीआई को नोटिस जारी करते हुए दो हफ्तों के अंदर जवाब मांगा है। बताया जाता है कि बीते दस जनवरी को झारखंड हाईकोर्ट में लालू यादव ने विशेष अनुमति याचिका के माध्यम से चारा घोटाले के चाईबासा, देवघर और दुमका मामले में कोर्ट से जमानत की मांग की थी। उन्होंने याचिका में बढ़ती उम्र और बीमारियों का हवाला दिया था। हालांकि हाईकोर्ट में  जमानत याचिका खारिज होने के बाद लालू यादव की ओर से 21 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी।

इसे भी पढ़ें-गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र में होंगे 23 माॅडल पोलिंग स्टेशन, सभी सुविधाओं से होगा युक्त

कोर्ट ने लालू पर गंभीर आरोपों का भी दिया हवाला

जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि मामले में लालू प्रसाद यादव पर गंभीर आरोप हैं। ऐसे में उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती है। मामले में लालू प्रसाद यादव और सीबीआई का पक्ष सुनने के बाद चार जनवरी को ही हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से एएसजीआई राजीव सिन्हा व अधिवक्ता नीरज कुमार ने जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा गया था कि मामले में लालू यादव मुख्य आरोपी हैं, मामले की जानकारी उनके संज्ञान में आई इसके बाद भी वे चुप रहे और सरकारी खजाना को लूटने दिया। इस दौरान सीबीआई ने लालू यादव को जमानत नहीं देने की मांग की थी।

तीन आधार पर वकील ने की थी जमानत की अपिल

लालू यादव की ओर से दायर याचिका में मुख्यतः तीन बातों को आधार बनाया गया था। उनके वकील की ओर से कहा गया कि इसी मामले में अन्य दोषियों को जमानत मिल चुकी है, खुद लालू को भी पूर्व में जमानत मिली थी, लिहाजा बेल दी जाए। दूसरा आधार लालू यादव के मेडिकल सर्टिफिकेट देते हुए उनके मेडिकल ग्राउंड को बनाया गया था। जबकि  तीसरा आधार उनके उम्र को बताया गया था।

चारा घोटाला मामले में 23 दिसंबर 2017 से जेल में हैं लालू यादव

चारा घोटाला मामले में लालू यादव को देवघर ट्रेजरी केस में 23 दिसम्बर 2017 को दोषी करार दिया गया था। तभी से वे जेल में है। 17 मार्च 2018 को तबीयत बिगड़ने के वजह से पहले उन्हें रिम्स और फिर दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था। कोर्ट ने 11 मई को इलाज के लिए लालू यादव की छह हफ्ते की जमानत मंजूर की थी। जिसे बढ़ाकर बाद में 14 और फिर 27 अगस्त कर दिया गया था। कोर्ट ने इसके बाद 30 अगस्त को लालू को कोर्ट में सरेंडर करने का निर्देश दिया था।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….