मुल्क की तरक्की के मुद्दों के आधार पर करें मतदान : रहमानी

मुल्क की तरक्की के मुद्दों के आधार पर करें मतदान : रहमानी
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 19
  •  
  •  
    19
    Shares

गिरिडीह पहुंचे मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के सदस्य

गिरिडीह। आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के सदस्य आबु तालीब रहमानी ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत के क्रम में चुनाव में मुस्लिम समुदाय के किसी व्यक्तिगत एजेंडे से साफ इंकार करते हुए कहा कि लोकतंत्र के महापर्व चुनाव में मुद्दों और जरूरत के आधार पर ही लोग मतदान करें। इसी में मुल्क की तरक्की संभव है। बोर्ड के सदस्य तालीब रहमानी गुरुवार को बलखंजों स्थित इमारत भवन में इमारत पब्लिक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में शरीक होने गिरिडीह पहुंचे थे। कार्यक्रम से पहले पत्रकारों से बातचीत के दौरान आबु तालीब ने कहा कि चुनाव में मुस्लिम समाज का कोई व्यक्तिगत मुद्दा नहीं है। क्योंकि मुस्लिम समाज अब शिक्षा के माध्यम से जागरुक है। ऐसे में वोटबैंक समझने की भूल अब करना हर दलों के लिए परेशानी बन सकता है। कहा कि चुनाव में सामूहिक भागीदारी से ही मुल्क की तरक्की है।

इसे भी पढ़ें-एसीबी ने जसपुर मुखिया समेत पंचायत सचिव को घूस लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मुद्दें पर मुस्लिम समाज हर फैसले को मानने को तैयार

बातचीत के दौरान आबु तालीब ने राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि बातचीत से सालों पुराना यह मसला हल हो जाएं, तो इससे बेहतर कुछ और नहीं हो सकता है। लेकिन मुस्लिम समाज को आध्यात्मिक गुरु रविशंकर पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं है, क्योंकि रविशंकर जी ने बयान दिया था कि अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं हुआ तो देश में गृह युद्व वाले हालात उत्पन्न हो जाएंगे। कहा कि जो व्यक्ति देश में गृह युद्व का बयान दे सकते हैं, तो फिर उस व्यक्ति को मध्यस्थता में शामिल करने का कोई औचित्य नहीं बनता है।

रविशंकर पर चल रहा है पर्यावरण बिगाड़ने का केस

प्रेसवार्ता के दौरान आबु तालीब ने कहा कि रविशंकर पर पहले से ही पर्यावरण बिगाड़ने पर एनजीटी में केस चल रहा है। एनजीटी ने रविशंकर पर करोड़ों का जुर्माना भी लगा रखा है। ऐसे में आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा मध्यस्थता में रविशंकर के शामिल किए जाने पर हैरानी जताया है। वैसे आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ आॅफ बोर्ड भी मुल्क को शांत रखने के लिए हर स्तर पर झुकने के लिए तैयार है। क्योंकि मुस्लिम समाज हर हाल में भारत को किसी कीमत में झुकने नहीं देगा। कहा कि मध्यस्था से अगर समाधान हुआ तो ठीक नहीं तो कोर्ट जो फैसला देगी उसे मानने के लिए मुस्लिम समाज तैयार है।

आंतकी मसूद अजहर को बताया इंसानियत का शैतान

इस दौरान आबु तालीब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा करते हुए पाकिस्तान आंतकी मसूद अजहर को इंसानियत का शैतान बताने के साथ कहा कि अब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् तालमेल कर मसूद अजहर को ग्लोबल आंतकी घोषित करें। वैसे आबु तालीब ने एक सवाल के जवाब में कश्मीर के पत्थरबाजों को अमेरिका का समर्थन मिलने की बात कहते हुए कहा कि काश्मीरी युवक भटक गए है। पत्थरबाजों को हुर्रियत और अलगाववाद का समर्थन मिलने के सवाल के जवाब में बोर्ड के सदस्य आबु तालीब ने साफ तौर पर कहा कि हुर्रियत नेताओं को कश्मीर मुद्दे पर अपना रूख साफ करना चाहिए।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….