आयुष्मान भारत का सच: गलत इलाज से मरीज की हालत बिगड़ी,अस्पताल ने पल्ला झाड़ा

आयुष्मान भारत का सच: गलत इलाज से मरीज की हालत बिगड़ी,अस्पताल ने पल्ला झाड़ा
  •  
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    8
    Shares

दवा के रिएक्शन से मरीज परेशान , गोवर्धन लाल नर्सिंग होम पर आरोप

गिरिडीह। एक तरफ जहां सरकार आयुष्मान भारत के प्रचार प्रसार में करोड़ों खर्च कर योजना का लाभ हर जरूरतमंदों तक पहुंचाने का दावा कर रही है, वहीं दूसरी तरफ इस योजना के तहत इलाज कराने वाले मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों की लापरवाही का खमियाजा भुगतना पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला शहर के गोवर्धन लाल नर्सिंग होम में प्रकाश में आया है। गोवर्धन लाल नर्सिंग होम में पाइल्स का आपरेशन कराने वाले मरीज शीतलपुर निवासी धीरज राम की माने तो चिकित्साकर्मियों की लापरवाही के कारण उनके जान पर बन गयी है। मरीज ने नर्सिंग होम के डॉक्टर और चिकित्सा कर्मियों पर आरोप लगाते हुए प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है।

इसे भी पढ़ें-आचार संहिता का सख्ती से पालन करें राजनीतिक दल : डीसी

डॉक्टर से की शिकायत तो बाहर रैफर कर दिया

आयुष्मान भारत का सच: गलत इलाज से मरीज की हालत बिगड़ी,अस्पताल ने पल्ला झाड़ा

अपनी आपबीती सुनाते हुए धीरज राम ने कहा कि दो दिन पूर्व उन्होंने नर्सिंग होम में पाइल्स का ऑपेरशन कराया था। सोमवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी के समय कंपाउंडर द्वारा दवा के प्रयोग का गलत तरीका बता दिया गया। जिसके बाद दवा सेवन करने पर दवा रिएक्शन कर गयी और उनका मुंह बुरी तरह झुलस गया। इस बाबत जब उन्होंने नर्सिंग होम के डॉक्टर विकास लाल से शिकायत कर उचित इलाज करने की बात कही तो डॉक्टर ने उल्टा उन्हें ही धमका कर रैफर कर दिया।

मरीज ने बताया कि दवा रिएक्शन के कारण उनकी जान पर बन आयी है। कहा कि वह एक गरीब आदमी है और अपना इलाज कराने में भी समर्थ नहीं है। गोवर्धन लाल नर्सिंग होम के डॉक्टर उनका इलाज करने की बजाए उन्हें डरा धमका कर अस्पताल से जाने को कह दिया। पीड़ित ने प्रशासन से न्याय की गुहार लगाते हुए उचित इलाज करवाने की मांग की है। इधर अस्पताल के चिकित्सक डाॅ विकास लाल ने इस मामले पर लगाए गए आरोप से इंकार करते हुए कहा कि मरीज ने खुद गलत तरीके से दवा का व्यवहार किया, इसलिए दवा का रिएक्शन हुआ।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….