गिरिडीह : हत्या के 8 साल पुराने मामले में दो को आजीवन कारावास

गिरिडीह : हत्या के 8 साल पुराने मामले में दो को आजीवन कारावास
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 8
  •  
  •  
    8
    Shares

मुखिया पुत्र राजेश राय व मुन्ना राय को मिली सजा

गिरिडीह। हत्या के आठ साल पुराने मामले में गिरिडीह के अष्टम जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद सिंह की अदालत ने मुखिया पुत्र राजेश राय और मुन्ना राय को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। जिस मुखिया पुत्र को सजा सुनाई गई है वह बारासोली पंचायत के मुखिया सुखदेव राय बताए जा रहे हैं। शुक्रवार को जब अदालत में फैसला सुनाया गया तो उस वक्त काफी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद थे। सजा सुनाने के दौरान बचाव पक्ष के वकील ने जहां दोनों को कम सजा देने की मांग की। वहीं अभियोजन पक्ष ने हत्या के दोनों आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की। काफी देर तक चले बहस के बाद अष्टम जिला जज ने दोनों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाने के साथ ही दोनों को 3-3 हजार का जुर्माना भी लगाया।

इसे भी पढ़ें-उपायुक्त ने की जिला टास्क फोर्स की बैठक, दिए कई निर्देश

वर्ष 2011 के 10 सितम्बर में रामकुमार राय की आरोपियों ने की थी हत्या

गौरतलब है कि साल 2011 के 10 सितंबर को दिन में रामकुमार राय बेंगाबाद बाजार से घर लौट रहा था। इसी दौरान गिरिडीह-बेंगाबाद रोड के बारासोली मोड़ के समीप मुखिया पुत्र राजेश राय, मुन्ना राय व रुपेश राय ने रामकुमार राय का रास्ता रोकते हुए उस पर बम से प्रहार कर रामकुमार राय को जख्मी कर दिया। इस दौरान तीनों ने मृतक रामकुमार पर गोली भी चलाई थी। जख्मी हालात में ही रामकुमार राय को सदर अस्पताल पहुंचाया गया। जहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई। घटना के बाद मृतक के भाई बजरंगी राय ने बेंगाबाद थाना में तीनों के खिलाफ केस दर्ज कराया था। ठेकेदारी को लेकर हुए वर्चस्व की लड़ाई में पहले भी तीनों आरोपी रामकुमार पर हमला कर चुके थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….