जरूरतमंद महिलाओं को समुचित सुविधा मिले, तभी योजना की सार्थकता: डीसी
गिरिडीह झारखंड

जरूरतमंद महिलाओं को समुचित सुविधा मिले, तभी योजना की सार्थकता: डीसी

  • 13
    Shares

समाज कल्याण विभाग ने गिरिडीह में शुरू किया अस्थायी सखी वन स्टाॅप सेंटर

गिरिडीह। महिला दिवस के मौके पर घरेलू हिंसा, सामाजिक उपेक्षाओं और दुष्कर्म की शिकार पीड़ितों के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित सखी वन स्टाॅप सेंटर का उद्घाटन किया गया। सेंटर का औपाचारिक उद्घाटन डीसी राजेश पाठक, मेयर सुनील पासवान, डीएसपी नवीन सिंह और डीपीआरओ रश्मि सिन्हा ने शुक्रवार को फीता काटकर किया। समारोह की शुरुआत अतिथियों ने दीप जलाकर किया। इस मौके पर नेत्रहीन विद्यालय के बच्चों ने स्वागत गान पेश कर अतिथियों का अभिनंदन किया।

नगर थाना के पीछे धरियाडीह में संचालित सखी नामक आशियाना फिलहाल अस्थायी तौर पर संचालित किया जाएगा। स्थायी सेंटर के लिए राज्य सरकार ने भवन प्रमंडल को 24 लाख का फंड उपलब्ध करा दिया है। वहीं स्थायी भवन सदर प्रखंड के करहरबारी में बनाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-राम जन्म भूमि मामले को सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता को भेजा

हिंसा पीड़ित महिलाओं को मिलेगा सेंटर का लाभ: राजेश पाठक

जरूरतमंद महिलाओं को समुचित सुविधा मिले, तभी योजना की सार्थकता: डीसी

इस अवसर पर बोलते हुए डीसी पाठक ने कहा कि पीड़ित महिलाओं को इसी भवन में रखा जाएगा। जहां सात दिनों तक ऐसी हर महिलाओं को खाने-पीने से लेकर हर स्तर की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी, जो घरेलू हिंसा, दुष्कर्म या अन्य रूप से पीड़ित होंगी। डीसी ने यह भी कहा कि प्रभावित महिलाओं को जब इस सेंटर से लाभ मिलेगा, तभी इसकी सार्थकता भी सामने आएगी। कहा कि सखी वन स्टेप सेंटर गिरिडीह ही नहीं, बल्कि दूसरे राज्यों व जिलों से आई पीड़िताओं के लिए भी कारगर साबित होगा। समारोह को डीएसपी नवीन कुमार सिंह और संतोष मिश्रा ने भी संबोधित किया।

सुरक्षित वातावरण में रहेंगी जरूरतमंद महिलाएं: डीएसडब्ल्यूओ

इधर समाज कल्याण पदाधिकारी पम्मी सिन्हा ने कहा कि 5 बेड वाले सेंटर की पहली नोडल पदाधिकारी सदर सीडीपीओ सुषमा कुमारी को नियुक्त किया गया है। सेंटर में एक महिला कांस्टेबल के साथ रसोईया और महिला पर्यवेक्षिका की नियुक्ति भी की गई है। उद्घाटन समारोह के दौरान भाजपा नेत्री संजू देवी के अलावे सीडीपीओ बिमला देवी, पर्यवक्षिका किरण राज, किरण प्रसाद, अनिता राज समेत समाज कल्याण विभाग की कई महिलाकर्मी मौजूद थीं।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….