झारखंडधाम में हुआ कानूनी जागरूकता सह साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन

झारखंडधाम में हुआ कानूनी जागरूकता सह साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन
  •  
  • 17
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    17
    Shares

लोगों को दी गई विभिन्न कानूनी जानकारी

जमुआ(गिरिडीह)। शिवरात्रि महापर्व के अवसर पर झारखंडधाम में आयोजित मेला में जिला विधिक सेवाएं प्राधिकार के द्वारा कानूनी जागरूकता सह साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित प्राधिकार के अर्ध विधिक स्वंय सेवी कामेश्वर कुमार व सुबोध कुमार साव ने संयुक्त रूप से कहा कि सर्वोच्य न्यायालय द्वारा ग्रामीण इलाके में निवास करने वाले गरीब, असहाय वृद्ध व विधवा को समुचित अधिकार के साथ निःशुल्क न्याय उपलब्ध कराने के लिए राज्य स्तर पर राज्य विधिक सेवाऐं प्राधिकार व जिला स्तर पर जिला विधिक सेवाऐं प्राधिकार का गठन किया गया है।

इसे भी पढ़ें-आरक्षण नीति के विरोध में भारत बंद का गिरिडीह में रहा आंशिक असर

पंचायत स्तर पर विधिक सहायता केन्द्र की स्थापना करना उद्देश्य

कामेश्वर कुमार व सुबोध कुमार साव ने कहा कि प्राधिकार के माध्यम से पंचायत स्तर पर विधिक सहायता केन्द्र की स्थापना कर योग्य पैनल अधिवक्ता व अर्ध विधिक स्वंय सेवी के माध्यम से ग्रामीणों तक निःशुल्क न्याय पहुंचाने का कार्य कर रही है। साथ ही हर दो माह में राष्ट्रीय लोक अदालत, चलंत मोबाईल लोक अदालत, स्थायी लोक अदालत के माध्यम से गरीब असहाय को निःशुल्क न्याययिक सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा है।

9 मार्च को होगा राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन

झारखंडधाम में हुआ कानूनी जागरूकता सह साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन

बताया गया कि आगामी नौ मार्च को व्यवहार न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया है। जिसमें वंचित और शोषित लोग भाग लेकर निःशुल्क न्याय प्राप्त कर सकते हैं। कार्यक्रम को सफल बनाने में महेन्द्र प्रसाद वर्मा, नेमचन्द वर्मा सहित अन्य का सराहनीय योगदान रहा। इस दौरान एक खोया हुआ बच्चा मिला जिनको मेला समिति के माध्यम से उनके माता पिता को बुलाकर सुपुर्द किया गया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….